Dr. Apj Abdul Kalam short Essay in Hindi-अब्दुल कलाम निबंध

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम निबंध Dr. Apj Abdul Kalam short Essay in Hindi, एक महान वैज्ञानिक व भारत के एक नामी राष्ट्रपति थे


Dr. Apj Abdul Kalam life and birthday: 1931


डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम Dr. Apj Abdul Kalam यानी डॉ. अब्दुल कलाम पाकुर जाकिर जैनुल आब्दीन अब्दुल कलाम का जन्म चेन्नई से लगभग 300 किलोमीटर दूर, रामेश्वरम् के धनुषकोडि गाँव में 1 अक्टूबर 1931 को एक निर्धन मछुआरे-परिवार में हुआ था।

निर्धनता के बीच उनका बचपन अभावों और संघर्षों से जुझते हुए बीता। अपने परिवार का बोझ सम्हालने के लिये उन्होंने अखबार बेचने का काम भी किया।

इस तरह बचपन के दिनों में ही वे विपरीत परिस्थितियों से जूझना सीख गये थे। उन्होंने विपत्तियों से कभी हार नहीं मानी।


डॉ. अब्दुल कलाम ने सन् 1950 में त्रिची के सेंट जोसेफ से विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

सन् 1954 में मद्रास के एम आई टी में प्रवेश लिया। आपने राकेट विज्ञान में अनेक अनुसंधान किये।

आपकी प्रमुख उपलब्धियों में रोहिणी उपग्रह का प्रक्षेपण, भारत का पहला उपग्रह यान एस.एल.वी.-3 का प्रक्षेपण, पृथ्वी मिसाइल का प्रक्षेपण एवं 1998 में पोकरण में सफल परमाणु परीक्षण आदि हैं।

उन्होंने सन 2002 से 2007 तक भारत के राष्ट्रपति पद को सुशोभित किया है।


डॉ. अब्दुल कलाम का राष्ट्रपति के रूप में पाँच वर्ष का कार्यकाल का यदि अवलोकन किया जाये तो ज्ञात होता है कि उनका भारत के आम-जन के साथ सहज और आत्मिक जुड़ाव रहा।

वे राष्ट्रपति भवन की प्राचीरों में कैद महामहिम की बनाम सामान्य लोगों के बीच अपनी सतत् उपस्थिति के लिये जाने जाते हैं।

आजीवन-अविवाहित रहने वाले कलाम साहब का हृदय बच्चों के प्रति उनके अगाध प्रेम से भरा हुआ था।

पंडित जवाहरलाल नेहरू के बाद वे दूसरे ऐसे सर्वोच्च पदासीन व्यक्ति थे, जिन्होंने बच्चों के प्रति अपने स्नेह को उदारतापूर्वक बाँटा।

उन्होंने राष्ट्रपति भवन को आम जनता की पहुँच से दूर एक आदरपूर्ण-रहस्य से निकालकर उसे जनता का भवन बनाने की ऐतिहासिक कोशिश की।

इस तरह लोकतंत्र को और अधिक खुलापन तथा पारदर्शिता से उन्होंने ही महिमामय बताया।
भारत को दुनिया का सबसे विकसित राष्ट्र के रूप में देखने का एक सपना भी वे हमें दे गये हैं।

सपने ही हमारी यात्रा को पाँव प्रदान करते हैं और लक्ष्य निर्धारित करने में अहम् भूमिका अदा करते हैं।

उन्होंने विजन-2020 नामक किताब भी इसी विषय पर लिखी है।
एक शिक्षाविद् और वैज्ञानिक के रूप में उनकी उपलब्धियाँ असीम हैं। इसी को सम्मानित करते हुए भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से उन्हें नवाजा गया।

यह लेख डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम निबंध Dr. Apj Abdul Kalam short Essay in Hindi आपको कैसा लगा जरूर प्रतिक्रिया देवें

और पढ़ें

श्री अरबिंदो घोष जीवनी -Biography of Aurobindo Ghosh in Hindi

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *